NGO Full Form in Hindi | NGO का फुल फॉर्म | NGO कैसे रजिस्ट्रेशन करे | एनजीओ

NGO Full Form in Hindi | NGO का फुल फॉर्म |  NGO कैसे रजिस्ट्रेशन करे | एनजीओ

दुनिया में ना जाने कितने ऐसे लोग है जो उत्पीड़न का शिकार हो जाते है कई बच्चे अनाथ है, तो कितने लोग अपने बूढ़े माँ बाप को घर से बाहर निकाल देते है, तो कही तलाक या फिर विध्वा होने के वजह से महिलाएँ बेसहारा हो जाती है, तो कही महिलाए रेप या फिर एसिड अटैक जैसे घिनौने अपराध का शिकार हो जाती है तो जब इनको कोई नहीं अपनाता है तो इनके पास एकमात्र सहारा होता है ngo की मदद लेने का।

NGO इन लोग की मदद करने के अलावा देशहित और पर्यावरड़ हित के लिए भी काम करते है।

NGO का मतलब होता है Non Governmental Organization जिसका हिंदी में मतलब होता है गैर सरकारी संगठन, यह प्राइवेट संस्थाएँ रहती है जो जन कल्याण का काम करती है आसान भाषा में कहा जाए तो इसे समाज सेवा कहते है।

NGO से अनेक तरीकों से समाज की सेवा की जा सकती है जैसे गरीबों के रहने के लिए घर देना , खाना देना, शिक्षा देना, स्वास्थ्य का ध्यान रखना, पर्यावरड़ के लिए कई पहल करना, महिलाओं की सुरक्षा के लिए कदम उठाना, क्युकी यह गैर सरकारी काम होता है तो इनके वर्किंग में सरकार का कोई रोल नहीं होता है।

NGO Full Form in Hindi

इस आर्टिकल में बात करने वाले है –

NGO का फुल फॉर्म और इसे हिंदी में क्या कहते है?

NGO क्या होता है?

NGO क्या काम करता है?

NGO से कैसे जुड़े?

खुद का NGO कैसे खोलें?

NGO खोलने के लिए जरूरी दस्तावेज?

NGO का रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

NGO के लिए फण्ड को कैसे इकठ्ठा करे?

दुनिया के सबसे टॉप 20 NGOs के नाम

भारत के सबसे टॉप NGOs के नाम


NGO Full-FormNon-Governmental Organisation

N For Non

G For Governmental

O For Organisation


NGO को हिंदी में क्या कहते है?

गैर सरकारी संगठन


What is an NGO?

NGO क्या है?

NGO एक प्राइवेट संस्था रहती है जिसका हिंदी में अर्थ है गैर सरकारी संगठन जैसे नाम से ही पता चलता है सरकार की इसमें कोई भूमिका नहीं रहती, ना ही सरकार इन संस्थाओं को कोई निर्देश देती है न ही इन संस्थाओं के ऊपर हक़ जता सकती है।

समाज कल्याण के प्रति जो इच्छुक रहते है वह NGO खोलकर अलग अलग तरह से जरूरतमंद लोगो की बिलकुल निशुल्क मदद करते है जैसे की – गरीब बच्चो के लिए खाना, पढ़ाई की सामग्री उपलब्ध करवाना, बेसहारा औरतों को सहारा देना, जिनके बेटे अपने माँ बाप को घर से निकाल देते है उन्हें सहारा देना, चोटिल जानवरो की मदद करना, युवाओं को नशा छुड़ाने के लिए मुहीम चलाना, जो गरीब बीमार व्यक्ति दवा नहीं खरीद सकते उन्हें फ्री में दवा उपलब्ध करवाना, ज़्यादा से ज़्यादा पेड़ लगाने की मुहीम और भी कई इसी तरह के कई सामाजिक विकास का काम NGO करती है और इससे उन्हें कोई पैसा नहीं मिलता पर उससे भी जरूरी चीज़ उन्हें मिलती है और वह गरीबो की दुआ और उनका प्यार।

NGO Full Form in Hindi

NGO क्या काम करता है?

गरीब बच्चो को शिक्षा देना, प्रदूषण को कम करने के लिए कदम उठाना, बेघर लोगो के लिए आवास उपलबध करवाना, जल संरक्षण के लिए लोगो को जागरूक करना, आदिवासियों की समस्याओं को दूर करना, विध्वा बेसहारा औरतों को सहारा देना, गरीबो को खाना, कपड़ा उपलब्ध करवाना, बूढ़े लोगो को सहारा देना जिनका अपना कोई नहीं है, पर्यावरड़ में सुधार लाने के लिए कदम उठाना, एसिड अटैक के चपेट में आयी लड़कियों की देखभाल करना, बीमार लोगो को के लिए फ्री में दवाई उपलब्ध करवाना, और इसी तरह के कई समाज कल्याण के कार्य NGO एकदम निःशुल्क करती है।


How to join NGO?

NGO से कैसे जुड़े?

किसी भी NGO में दो तरीके से जुड़ सकते है – (पहला) आप एक सदस्य के रूप में किसी भी NGO में (As a member) जुड़ सकते है, दूसरा आप खुद के NGO की भी शुरुवात कर सकते है।

BSW (Bachelor of Social Work) और MSW (Master of Social Work) नाम के कोर्स होते है जो सामाजिक विकास के बारे में विस्तार से सीखाते है और यह कोर्स NGO ज्वाइन करने के लिए भी किया जाता है, अगर यह कोर्स आपने पूरा किया है और आपके पास इन कोर्स की डिग्री है तो और अच्छी बात होती है,तब आपके पास अनुभव रहता है, आप किसी भी NGO में Internship के लिए आवेदन कर सकते है।

जिस भी NGO से आप जुड़ना चाहते है उस NGO की official वेबसाइट गूगल पर सर्च करकर उनसे जुड़ने के लिए ऑनलाइन apply कर सकते है, वेबसाइट पर जाने के बाद वहा आपको तीन विकल्प मिलेंगे – Become member, Get involved और Internship आप अपने ईच्छानुसार किसी भी विकल्प को चुन सकते है, internship पाने के लिए आप internship वाले विकल्प पर क्लिक करेंगे उसके बाद वह आपसे ज़रूरी डाक्यूमेंट्स और जानकारिया मांगेंगे verify करने के लिए उसके बाद आपको इंटर्नशिप मिल सकती है, ध्यान रहे NGO की वेबसाइट official है की नहीं पहले यह चेक कर ले उसके बाद ही अपनी जानकारिया और अन्य चीज़ की जानकारिया दे। किसी भी NGO से जुड़ने के लिए आप उनके ऑफिस में Personally जाके भी बात कर सकते है।


How to open an NGO?

खुद का NGO कैसे खोलें?

सबसे पहले आप अपना NGO का उद्देश्य चुनेंगे, आप अपना NGO समाज के कौन से श्रेढ़ी (Category) के लोगो के लिए खोलना चाहते है और NGO में कौन सी समाज सेवा करेंगे यह फैसला करेंगे जैसे की आप अपना NGO बच्चो की पढ़ाई से सम्बंधित के लिए खोलना चाहते है, महिलाओं से सम्बंधित खोलना चाहते है, बूढ़े लोगो की मदद करने के लिए खोलना चाहते है आदि।

आप के NGO में कम से कम 7 सदस्य का रहना जरूरी है, और उन 7 सदस्यों के अंदर सच में समाज सेवा करने की भावना हो और वह जिम्मेदार होने चाहिए तभी NGO अच्छे तरीके से चल पाएगा।

Documents required to open an NGO?

NGO खोलने के लिए जरूरी दस्तावेज ?

Trust Deed / Memorandum of Association Document

Rules and Regulations / Memorandum Document

Articles of association Regulations Document

ID Proof / Residence proof

ट्रस्ट डीड / मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन दस्तावेज

नियम और विनियम / ज्ञापन दस्तावेज

एसोसिएशन के लेख विनियम दस्तावेज़

आईडी प्रूफ / रेजिडेंस प्रूफ


how to registered NGO

NGO का रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

यह आपके ऊपर है की आप अपने NGO को पंजीकृत कराना चाहते है की नहीं अगर नहीं कराना चाहते तो आप बिना पंजीकृत कराए भी NGO चला सकते है इसमें कोई दिक्कत नहीं होती है, पर अगर आप अपने NGO को पंजीकृत कराते है तो सरकार से भी थोड़ी मदद मिलती रहती है।

आप अपने NGO को तीन Act के तहत पंजीकृत करा सकते है –

ActDocuments
Trust ActTrust Deed (atleast 2 Trustee)
Society ActMemorandum Of associations Rules And Regulations (at least 7 Members)
Companies Act Memorandum and Articles Rules and Regulations (at least 3 Members)

एक अलग बैंक अकाउंट जिसमे डोनेशन के पैसे जमा होंगे।


How to raise fund for NGO?

NGO के लिए फण्ड को कैसे इकठ्ठा करे?

अपनी NGO से जुड़े एक official वेबसाइट बनाए जिसमे आप अपने NGO के बारे में बताए और उसमे Donation का एक अलग option दे, लोग वेबसाइट पे आएंगे और डोनेट करेंगे इससे फण्ड इकठ्ठा होंगे, अपने NGO से जुड़े प्रोग्राम और activity का आयोजन भी कर सकते है जिससे लोग आपके कार्यक्रम के जरिये आपके NGO के बारे में जानेंगे और इससे जुड़ जाएंगे।

आज का जमाना सोशल मीडिया का है आप Instagram, फेसबुक पर अपनी NGO का विज्ञापन भी चलवा सकते है, जिससे लोग आपके NGO के बारे में और जान सकेंगे, और आपकी मदद करने के लिए आगे आएंगे।


When is World NGO Day celebrated?

विश्व NGO day कब मनाया जाता है?

27 February

27 फरवरी


Top 20 NGOs in the world?

दुनिया के सबसे टॉप 20 NGOs?

BRAC

Msf

Open Society Foundations

Danish Refugee Council

Ashoka

Mercy Corps

Ja Worldwide

Acumen

Cure Violence Global

Landesa

Skoll Foundation

Oxfam

Handicap International

Partners in Health

Save the children

One Acre Fund

Rare

Barefoot College

Heifer International

Room to Read


Top NGOs in India?

भारत के सबसे टॉप NGOs?

Sightsavers

Child’s right and you (CRY)

Give Foundation

GOONJ

Help Age India

K.C. Mahindra Education Trust Nanhi kali

LEPRA India

Pratham Education Foundation

Samman Foundation

Smile Foundation

Leave a Reply

Your email address will not be published.

इन शहरों में सबसे पहले मिलेगी 5G सर्विस, चेक करें लिस्ट Jio-Airtel-Vi : भारत में 1 अक्टूबर को लॉन्च होगा 5G नेटवर्क छप्परफाड़ डिस्काउंट: ये हैं 50 इंच के सबसे सस्ते LED TV 151 रुपये में पाएं हाई स्पीड डेटा, Free ओटीटी सब्सक्रिप्शन और ये सब इस कंपनी के इलेक्ट्रिक स्कूटर्स ने देश में मचाई धूम कपड़ों के पार देख सकता था One Plus स्मार्टफोन का कैमरा, मच गया था हड़कंप Tecno आज लॉन्च करेगा देश का पहला मल्टी-कलर चेंजिंग स्मार्टफोन Samsung के इस धाकड़ Smartphone के अचानक घटे दाम Realme Narzo 50i Prime कम कीमत में भारत में हुआ लॉन्च Apple ने रिलीज किया iOS 16 वर्जन, मजेदार होगा लॉकस्क्रीन, मिलेंगे कई और ऑप्शंस T20 World Cup के लिए Team India का हुआ ऐलान दिल लूटने आया फटाफट फुल चार्ज होने वाला धमाकेदार Smartphone आ रहा है कम कीमत वाला सबसे गजब 5G Smartphone Filmfare Award 2022: जानें किसकी झोली में आया कौन- सा पुरस्कार दुनिया के तीसरे सबसे बड़े रईस बने गौतम अडानी दुल्हन का मेकअप कॉस्मेटिक्स से नहीं बल्कि पेंट से किया जाता है पैरों की जगह सींग जैसे अंग के साथ पैदा हुआ बच्चा Video : लोगों ने कोबरा और नेवले के बीच देखा जोरदार मुकाबला दिलों को लूटने आ रहा Vivo का रंग बदलने वाला फोन ‘700 पुरुषों के साथ बनाए संबंध पर जरा भी नहीं है पछतावा’